हिमालय पर्वत पर स्थित 11 प्रमुख दर्रे। प्रत्येक हिमालयीन दर्रे का संक्षिप्त विवरण


■ हिमालय अन्यंत दुर्भत पर्वत श्रेणी है जिसके आरपार जाने के लिए दर्रों से होकर मार्ग जाता है। हिमालय पर्वत स्थित प्रमुख दर्रे निम्नलिखित हैं -

1.काराकोरम दर्रा:- कराकोरम दर्रा जम्मू कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में हिमालय के कराकोरम श्रेणियों के मध्य स्थित हैं। हिमालय पर्वत श्रेणी का यह सर्वाधिक ऊंचाई पर स्थित दर्रा जो 5,654 मीटर ऊंचा है।

2.रोहतांग दर्रा:- रोहतांग दर्रा हिमाचल प्रदेश में पीर-पंजाल श्रेणियों में 4,631 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

3.लाचा दर्रा:- हिमाचल प्रदेश में जास्कर श्रेणियों के मध्य स्थित लाचा दर्रा मण्डी से लेह जाने का मार्ग प्रदान करता है। यह दर्रा 4,512 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

4.बुर्जिला दर्रा:- जम्मू कश्मीर में स्थित बुर्जिला दर्रा 3,750 मीटर ऊंचा है। इस दर्रे से होकर काशनगर और मध्य एशिया का मार्ग गुजरता है।

5.ज़ोजिला दर्रा:- ज़ोजिला दर्रा जम्मू कश्मीर में जास्कर श्रेणी में स्थित है। यह 3,529 मीटर ऊंचा है। इस दर्रे से होकर श्रीनगर से लेह का मार्ग गुजरता है।

6.पीर पंजाल दर्रा:- पीर पंजाल दर्रा जम्मू-कश्मीर के दक्षिण पश्चिम में पीर पंजाल श्रेणियों के मध्य स्थित है।

7.शिपकीला दर्रा:- शिपकी ला दर्रा हिमाचल प्रदेश में जास्कर श्रेणियों के मध्य स्थित है।इस दर्रे से होकर शिमला से तिब्बत का मार्ग उपलब्ध होता हे।

8.नीति दर्रा:- उत्तराखंड के कुमाऊँ क्षेत्र में स्थित नीति दर्रा 5,389 मीटर ऊंचा है। इस दर्रे से होकर मानसरोवर और कैलाश घाटी जाने का मुख्य मार्ग गुजरता है।

9.माना दर्रा:- माना दर्रा उत्तराखंड के कुमाऊँ श्रेणी में स्थित है। इस दर्रे से होकर मानसरोवर और कैलाश घाटी जाने का मुख्य मार्ग गुजरता है।

10.बनिहाल दर्रा:- बनिहाल दर्रा जम्मू कश्मीर के पीर पंजाल श्रेणियों में स्थित है। इस दर्रे के ऊंचाई 2,832 मीटर है। यह दर्रा जम्मू से श्रीनगर का मार्ग उपलब्ध कराता है।

11.नाथुला दर्रा:- नाथुला दर्रा सिक्किम में डोगेक्या श्रेणी में स्थित है। इस दर्रे से दार्जिलिंग और चुम्बी घाटी होकर तिब्बत जाने वाला मार्ग गुजरता है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां